मुझसे जुड़ें

Thursday, July 02, 2015

केजरीवाल सरकार या पब्लिसिटी सरकार


खबर आ रही है कि दिल्ली सरकार ने अपनी उपबलब्धियां बताने के लिए विज्ञापन का बजट 526 करोड़ रुपए कर दिया है... पिछली शीला सरकार में विज्ञापन का बजट करीब 25-30 करोड़ रुपए था... अब इस पर माननीय केजरीवाल जी के पुराने साथी प्रशांत भूषण ऐलान कर दिया है कि वो इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाएंगे... वहीं कांग्रेस नेता अजय माकन तो यहां तक कह गए हैं कि क्या केजरीवाल सरकार मीडिया को खरीदने की तैयारी में है... क्योंकि पिछली बार के मुकाबले विज्ञापन का बजट केजरीवाल जी ने 2019 (दो हज़ार उन्नीस) फीसदी बढ़ा दिया है...विज्ञापन के लिए इस भारी भरकम बजट पर आम आदमी पार्टी गोलमोल जवाब दे रही है.. और उनके नेता इस पर कुछ भी कहने से बच रहे हैं...
हो चचा... चेहरा त केजरीवाल बबुआ भी चमकावे में पीछे ना हैं हो... तनिक केजरीवाल जी के काहे ना कहत हउव्वै कि जौन घूसखोर अफसरवा पकड़े हैं उनके नाम और फोटो समेत विज्ञापन काहे ना बनवावत हउवैं हो...
नोट - आपिए कृपया इस पर ये तर्क बिल्कुल ना दें कि केंद्र सरकार का तो अरबों का बजट है... इसलिए केजरीवाल ने अगर विज्ञापन बजट बढ़ा दिया तो क्या हुआ..Aam Aadmi Party - Delhi Bharatiya Janata Party (BJP) Indian National Congress