मुझसे जुड़ें

Saturday, May 09, 2015

पेट्रोल-डीज़ल से नहीं अब हवा से चलेगी गाड़ी


वो दिन दूर नहीं जब पेट्रोल-डीज़ल की बढ़ती और गिरती कीमतें आपको परेशान नहीं करेंगी... क्योंकि बेहद जल्द अब सड़कों पर हवा से चलने वाली गाड़ियां नज़र आने लगेंगी... अभी तक आपने फिल्मों में ऐसा होते देखा होगा... लेकिन अब हकीकत में ऐसा होने वाला है... जापानी ऑटोमोबाइल कंपनी टोयोटा ने मिराई नाम की कार बनायी है... जो की हवा से चलेगी... इसकी अधिकतम रफ्तार करीब 180 किलोमीटर प्रति घंटे की है... ये सिर्फ 9.6 सेकेंड्स में 0 से 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ लेती है.... एक बार में ये करीब 500 किलोमीटर तक चल सकती है... और इसके लिए आपको इसके टैंक में हाइड्रोजन गैस भरना होगा...

हाइड्रोजन गैस ऑक्सीज़न के साथ मिलकर बिजली बनाएगी.. जिससे कार में लगा मोटर चलेगा... साथ में बैट्री भी होगी जो अतिरिक्त पैदा होने वाली बिजली को स्टोर करेगी... ताकि कार को स्टार्ट करते वक्त या फिर लाइट्स जलाते वक्त उसका इस्तेमाल किया जा सके... और सबसे हैरान करने वाली बात ये है कि... इससे प्रदूषित धुएं की बजाए.. एग्जॉस्ट के ज़रिए सिर्फ पानी निकलेगा... यानि ये वायुमंडल को ज़रा सा भी प्रदूषित नहीं करेगी... ये कार ना सिर्फ बेहद सुरक्षित है.. बल्कि आने वाले वक्त में इसे किसी चमत्कार से कम नहीं माना जाएगा...

इतनी सारी खूबियों के साथ-साथ इसमें कई खामियां भी हैं... सबसे बड़ी मुश्किल इसकी कीमत को लेकर है.. फिलहाल इस कार की कीमत करीब 62 लाख रुपए है... हाइड्रोजन भरना भी फिलहाल बेहद मुश्किल है.. क्योंकि अगर सिर्फ ब्रिटेन की बात करें तो वहां पर फिलहाल सिर्फ 12 ऐसे फिलिंग स्टेशन हैं जहां हाइड्रोजन मिलता है... हालांकि कहा जा रहा है कि 2020 तक इसकी संख्या 65 के करीब हो जाएगी.. लेकिन ये भी नाकाफी होगा... हालांकि ब्रिटेन की सरकार इसके लिए भारी-भरकम सब्सिडी दे रही है... जापान में तो इसकी शुरुआत भी हो चुकी है... सरकार की ओर से इस कार को करीब 17 लाख रुपए में उपलब्ध कराया जा रहा है...

हालांकि विशेषज्ञों का मानना है कि इन खामियों से बाहर आना ज्यादा मुश्किल नहीं है... लेकि नज़रा सोचिए... ऐसी कारों की संख्या जब बढ़ने लगेगी तो दुनिया की कितनी सारी परेशानियां दूर हो सकती हैं... जिस तेल के लिए ना जाने कितनी जंगें लड़ी जा चुकी हैं... कई देशों को बर्बाद किया जा चुका है... हज़ारों की जानें जा चुकी हैं... वो नहीं होंगी... पर्यावरण को जो नुकसान पेट्रोल और डीज़ल से चलने वाली गाड़ियां पहुंचाती हैं.. वो नहीं होगा. यानि आने वाली पीढ़ियों को हम साफ और सुरक्षित हवा का तोहफा दे पाएंगे... देशों की अर्थव्यवस्था में भारी सुधार होगा.. क्योंकि उनकी तेल पर निर्भरता खत्म हो जाएगी...